संस्था के बारे में

होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र (HBCSE), मुम्बई स्थित टाटा मूलभूत अनुसंधान संस्थान (TIFR) का एक राष्ट्रीय केन्द्र है। देश में विज्ञान ‍‌और गणित शिक्षा में समता और उत्कृष्टता को ब‌ढ़ावा देना तथा जनमानस में वैज्ञानिक सोच तथा चिंतन की प्रवृत्ति को प्रोत्साहित करना इस केन्द्र के ध्येय हैं। इन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए यह केन्द्र विज्ञान में अनुसंधान, विकास तथा प्रशिक्षण से सम्बद्ध कार्यों में संलग्न है। इनमें न्यून-निष्पादन वाले छात्रों के लिए उपचारात्मक अध्यापन-विद्या का विकास, कम कीमत के प्रायोगिक उपकरणों का विकास, विज्ञान के इतिहास पर प्रदर्शनी, शिक्षक प्रशिक्षण, पाठ्यचर्यात्मक, सहपाठ्यचर्यात्मक और निदर्शनात्मक पुस्तकों और सामग्रियों का सृजन, विज्ञान शिक्षा के लिए हिन्दी में लर्निंग पोर्टल का विकास, मेधावी छात्रों के लिए प्रतिभा-पोषण कार्यक्रम और प्रगत प्रयोगशालाओं का विकास, तथा राष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान लोकव्यापीकरण के प्रयास शामिल हैं। होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र, भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीवविज्ञान तथा खगोल-विज्ञान में ओलंपियाड का राष्ट्र का अग्रणी केन्द्र है| सूचना तथा संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में आयी क्रान्ति ने आज समूचे वैश्विक परिदृश्य को बदल दिया है। दूरियाँ आज तेजी से सिमट रही हैं तथा पूरी दुनिया एक विश्वग्राम में तब्दील हो रही है। विगत वर्षों में भारत ने सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में जबरदस्त कामयाबी हासिल की है और इसने जीवन के तमाम क्षेत्रों को प्रभावित किया है। जनसंचार माध्यमों में इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों का दायरा और प्रभाव बहुत व्यापक है। विगत कुछ वर्षों में डिजिटल माध्यम एक सशक्त तथा प्रभावी विधा के रूप में उभरा है जिसमें दृश्य, श्रव्य, वीडियो, एनिमेशन और अनुरूपण के द्वारा सूचना को प्रभावी तरीके से लक्ष्य वर्ग तक पहुंचाया जा सकता है। शिक्षा में बेहतर अधिगम तथा संकल्पनात्मक समझ विकसित करने में ई-सामग्रियां बहुत उपयोगी साबित हो रही हैं तथा आजकल इनके विकास पर काफी जोर दिया जा रहा है। हिन्दी संसार बहुत बड़ा है। जाहिर है उसकी आवश्यकताएँ तथा अपेक्षाएँ भी बहुत बड़ी और व्यापक हैं। इसी पृष्ठभूमि में होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र ने विज्ञान शिक्षा के लिए ई-लर्निंग पोर्टल तथा संगत सामग्री के विकास की दिशा में प्रस्तुत पहल की है।
ई-पुस्तकें (E-Books)
होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र में विज्ञान के विभिन्न विषयों को सरल तरीके से समझाने के उद्देश्य से कई पुस्तकों को लिखा गया है तथा अनुवाद किया गया है। इन पुस्तकों को तीन श्रेणियों में बांटा जा सकता है। लोकोपयोगी विज्ञान की पुस्तकें (Popular Science Books) सह-पाठ्यचर्यात्मक पुस्तकें (Co-curricular Books) पाठ्यचर्यात्मक पुस्तकें (Curricular Books)

लोकोपयोगी विज्ञान

(Popular Science)

सह-पाठ्यचर्यात्मक पुस्तकें 

(Co-curricular Books)

पाठ्यचर्यात्मक पुस्तकें

(Curricular Books)

ई-लेख (E-Articles)
 
न्यूरोट्रांसमिटर: हमारे मन और मिजाज के निर्धारक PDF
रसायन का विकास अौर भारत का योगदान   PDF
कोलेस्टेरॉल और हमारा स्वास्थ्यPDF
वर्ष 2016 की महत्वपूर्ण वैज्ञानिक उपलब्धियाँ  PDF
खाने में घुलती बनावटी मिठास    PDF
अब नहीं मिलेंगे ब्रेड में खतरनाक  रसायन  PDF
ई-व्याख्यान (E-lectures)

भारत में सूचना तथा संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हुई तरक्की से जीवन का हर क्षेत्र प्रभावित हुआ है। देश में इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों का दायरा तथा प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है, तथा इंटरनेट सेवाओं का तेजी से विस्तार हो रहा है। जाहिर है शिक्षा का क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं है।बेहतर शिक्षण, प्रशिक्षण तथा अधिगम के लिए शैक्षिक ई-सामग्री आज बहुत उपयोगी साबित हो रही है तथा आने वाले दिनों में इसकी उपयोगिता तथा उपादेयता बढ़ेगी। दृश्य-श्रव्य माध्यमों तथा ऐनिमेशन तकनीक द्वारा शैक्षिक सामग्री बेहतर तरीके से छात्रों, अध्यापकों, प्रशिक्षकों तथा आम जनमानस तक पहुँचायी जा सकती है.

प्रकाशन एवं विक्री

होमी भाभा विज्ञान शिक्षा केन्द्र
टाटा मूलभूत अनुसंधान संस्थान
वी. एन. पुरव मार्ग, मानखुर्द मुम्बई- 400 088

फोन: +91 022 25072114
फैक्स: +91 022 25566803

 

मैप